Aadhar Card

Aadhar Card Online

आधार बिल – 2016

आधार बिल 2016 बारे हिंदी में- नरेंद्र मोदी की सरकार ने 16 मार्च 2016 को आधार बिल पास किया। सरकार के अनुसार इस विधेयक के पास होने से अब लोगों का सब्सिडी का पैसा अब सीधे उन तक पहुंच सकेगा। आईए जानते हैं इस धन विधेयक से क्या क्या फायदा होने वाल है जनता हो?

भारतीय नागरिकों को सरकार से सब्सिडी राशि लेने में आसानी होगी, जो कि सीधे उनके खातों में जाएगी। अन्य सरकारी सेवाओं के लिए भी आधार नंबर की जरूरत होगी। आाधार नंबर एक विशिष्ट नंबर है, जो यूआईडीएआई द्वारा भारत के नागरिकों को प्रदान किया जाता है। सरकार ने आधार कार्ड बनाने की प्रक्रिया पहले से ही शुरू की हुई है।

क्या होगा आधार बिल पास होने के बाद?

आधार नंबर/ आधार कार्ड अब विभिन्न सरकारी सेवाओं तथा सब्सिडी राशि प्राप्त करने के लिए आवश्यक माना जाएगा। अगर किसी नागरिक के पास आधार नंबर नहीं है, अथवा उसने आधार कार्ड नहीं बनवाया है, तो उसे आधार कार्ड हेतू आवेदन करने के लिए कहा जाएगा। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने अक्टूबर 2015 में यह आदेश पारित कर दिया था कि सरकारी सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए आधार को जरूरी नहीं ठहराया जाना चाहिए। परंतु आधार बिल पास होने के बाद अब फिर से इसकी अनिवार्यता हो जाएगी।

निजता को नहीं होगा खतरा

किसी भी व्यक्ति की आधार से संबंधित जानकारियां जैसे नाम, पता, फोन नंबर, फोटो, फिंगर प्रिंट, डेमोग्राफिक तथा बायोमीट्रिक जानकारियों को सरकार द्वारा गुप्त रखा जाएगा, तथा उन्हें किसी के सामने प्रदर्शित नहीं किया जाएगा। हाँ, सुरक्षा नियमों अथवा अदालत के आदेशों से इन जानकारियों को सार्वजनिक किया जा सकेगा।

आधार जानकारी सार्वजनिक करने पर जुर्माना और सजा

आधार बिल 2016 के अनुसार किसी दूसरे व्यक्ति की आधार संबंधित जानकारी सार्वजनिक करने, सरकारी आंकडों को चुराने आदि में दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। इसमें 10 लाख रूपए का जुर्माना तथा 3 साल की सजा का भी प्रावधान है।

Disclaimer | Privacy Policy | Contact Us     Aadhar Card © 2018